Health

गोमूत्र पीने के 11 बेहतरीन स्वास्थ्य लाभ

गोमूत्र पीने के 11 बेहतरीन स्वास्थ्य लाभ

गाय एक पवित्र जानवर है जिसे भारत में गौमाता तथा कामधेनु भी कहा जाता है। गाय का दूध, दही, घी के साथ साथ गोमूत्र भी महौषधि है। आयुर्वेद के अनुसार गोमूत्र संजीवनी है जो कई रोगों को नष्ट करता है। गोमूत्र में यूरिया, पानी, मैग्नीशियम क्लोराइड, पोटैशियम क्लोराइड, सल्फर, तांबा, लोहा, फास्फेट, नाइट्रोजन, सोडियम, मैंगनीज, नमक, एंजाइम, कार्बोलिक एसिड, कैल्शियम, शुगर तथा विटामिन-ए, विटामिन-बी, विटामिन-सी, विटामिन-डी व विटामिन-ई पर्याप्त मात्रा में पाये जाते हैं। गोमूत्र में एंटीकैंसर, एंटीमाइक्रोबियल, एंटीडायबेटिक, एंटीफंगल, एंटीआक्सीडेन्ट, एंटीबायोटिक गुण पाये जाते हैं। गोमूत्र का प्रयोग कई प्राकर से किया जाता है। गोमूत्र को स्वच्छ कपड़ें से छानकर सादा पिया जाता है। गोमूत्र में नमक तथा नीबू का रस मिलाकर पिया जाता है। गोमूत्र में आंवला चूर्ण तथा दूध मिलाकर पिया जाता है। गोमूत्र हमेशा खाली पेट सेवन किया जाता है। छोटे बच्चो को गोमूत्र नही पीना चाहिए।

गोमूत्र के सेवन से स्वास्थ्य लाभ

  1. मधुमेह रोग ठीक हो जाता हैः तीन से चार चम्मच गोमूत्र सुबह-शाम खाली पेट नियमित रूप से चार से पांच सप्ताह तक सेवन करने से इसमें पाया जाने वाला एंटीआक्सीडेन्ट तथा एंटीडायबेटिक गुण शरीर में इन्सुलिन को सन्तुलित कर के मधुमेह रोग ठीक कर देता है।
  2. शरीर की सूजन ठीक हो जाती हैः तीन से चार चम्मच गोमूत्र में 5 से 6 बूंद कागजी नीबू का रस मिलाकर सुबह-शाम खाली पेट नियमित रूप से चार से पांच सप्ताह तक सेवन करने से इसमें पाया जाने वाला एंटीआक्सीडेन्ट गुण शरीर की सूजन को ठीक कर देता है।
  3. पीलिया रोग ठीक हो जाता हैः तीन से चार चम्मच गोमूत्र में एक चुटकी भुनी फिटकरी का चूर्ण मिलाकर सुबह-शाम खाली पेट नियमित रूप से दो से तीन सप्ताह तक सेवन करने से पीलिया रोग ठीक हो जाता है।
  4. थायराइड रोग में काफी लाभकारी हैः तीन से चार चम्मच गोमूत्र का सुबह-शाम खाली पेट नियमित रूप से पीने से थायराइड रोग में काफी लाभ होता है।
  5. पेट के कृमि नष्ट हो जाते हैः चार चम्मच गोमूत्र में 2 ग्राम भुनी अजवाइन का चूर्ण मिलाकर सुबह-शाम खाली पेट नियमित रूप से दो दिन पीने से पेट के कृमि नष्ट हो जाते हैः
  6. कब्ज नाशक हैः तीन से चार चम्मच गोमूत्र में 2 ग्राम भुनी हरड़ का चूर्ण मिलाकर सुबह-शाम खाली पेट नियमित रूप से पीने से थायराइड रोग में काफी लाभ होता है।
  7. मोटापा कम हो जाता हैः 100 मिली0 स्वच्छ पानी में चार चम्मच गोमूत्र, एक चम्मच शुध्द शहद तथा आधा चम्मच नीबू का रस मिलाकर सुबह खाली पेट नियमित रूप से तीन से चार माह तक सेवन करने से शरीर की अनावश्यक चर्बी नष्ट होकर मोटापा दूर हो जाता है। जिन्हे मधुमेह की समस्या हो वे इस मिश्रण में शहद का प्रयोग न करें। शेष मिश्रण का ही प्रयोग करें।
  8. एक्जिमा, कील, मुहांसे ठीक हो जाते हैः चार चम्मच गोमूत्र में एक चम्मच शुध्द शहद तथा एक चौथाई चम्मच नीबू का रस मिलाकर सुबह-शाम खाली पेट नियमित रूप से एक से दो माह तक पीने से एक्जिमा, कील, मुहांसे ठीक हो जाते है। त्वचा में चमक तथा निखार आ जाता है। जिन्हे मधुमेह की समस्या हो वे इस मिश्रण में शहद का प्रयोग न करें। शेष मिश्रण का ही प्रयोग करें।
  9. हृदय रोग में अत्यन्त लाभकारी हैः चार चम्मच गोमूत्र का सुबह-शाम नियमित रूप से सेवन करने से हृदय रोग में काफी लाभ होता है।
  10. हाई ब्लड प्रेशर ठीक हो जाता हैः चार चम्मच गोमूत्र का सुबह-शाम नियमित रूप से डेढ़ से दो माह तक सेवन करने से हाई ब्लड प्रेशर ठीक हो जाता है।
  11. दांत तथा मसूढ़े स्वस्थ रहते हैः एक गिलास गोमूत्र से दिन में एक बार कुल्ला कर के साफ पानी से मुह साफ कर लें। इसका नियमित रूप से प्रोयग करने से दांत तथा मसूढ़े स्वस्थ हो जाते हैं।

डिक्लेमरः इस लेख में प्रकाशित सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों तथा जानकारी को किसी चिकित्सक की सलाह के तौर पर न लें। बीमारी की स्थिति में चिकित्सक की सलाह अवश्य लें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

AdBlock Detected

Please Consider Supporting Us By Disabling Your AD Blocker