Health

आप सभी को विटामिन ए के बारे में जानना चाहिए

आप सभी को विटामिन ए के बारे में जानना चाहिए

विटामिन ए वसा में घुलनशील  विटामिन है। इसमें वसा के साथ-साथ खनिजों को आपके पाचन तंत्र द्वारा ठीक से अवशोषित करने की आवश्यकता होती है। विटामिन ए को शरीर में रेटिनाल के रूप में संग्रहीत किया जा सकता है और हर दिन इसे फिर से भरने की आवश्यकता नहीं पड़ती है।

विटामिन ए को आई0यू0 में मापा जाता है। वयस्क पुरुषों को प्रतिदिन 5,000 आई0 यू0 विटामिन-ए की आवश्यकता पड़ती है। वयस्क  महिलाओं के लिए प्रतिदिन 4,000 आई0 यू0 विटामिन-ए की आवश्यकता पड़ती है।

विटामिन-ए के सर्वश्रेष्ठ प्राकृतिक स्रोत

मछली के जिगर का तेल, जिगर, गाजर, गहरे हरे और पीले रंग की सब्जियां, अंडे, दूध और डेयरी उत्पाद, मार्जरीन और पीले फल आदि।

विटामिन-ए की कमी से बीमारी

  1. रतौंधीः  विटामिन-ए की कमी से रतौंधी रतौंधी नामक रोग हो जाता है।
  2. क्रोनिक फैटः   मैलाबॉस्फोर्मेशन के परिणामस्वरूप कमी अक्सर होती है। यह आमतौर पर अपर्याप्त आहार सेवन के कारण पांच साल से कम उम्र के बच्चों में होता है।आखों में कलर विजन हो जाता है।

विटामिन-ए से लाभ

  1. श्वसन संक्रमण से प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाती है।
  2. शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली बढ़ जाती है।
  3. हड्डियां मजबूत होती हैं।
  4. शरीर स्वस्थ रहता है।
  5. दांत तथा मसूढ़े मजबूत होते हैं।
  6. आखों में कोई विकार नही होते हैं।
  7. मुहांसे, त्वचा की झुर्रियों, फोड़े व खुले अल्सर के इलाज में सहायता मिलती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

AdBlock Detected

Please Consider Supporting Us By Disabling Your AD Blocker