Health

दालचीनी के स्वास्थ्य लाभ

दालचीनी के स्वास्थ्य लाभ  

दालचीनी एक प्रकार का मसाला एवं औषधीय वृक्ष है जिसका वैज्ञानिक नाम सिन्नेमोमम वेरूम है। दालचीनी का प्रयोग मसाले के रूप में सम्पूर्ण विश्व में किया जाता है। दालचीनी का प्रयोग प्रत्येक भारतीय परिवार में मसाले के रूप में किया जाता है। दालचीनी की तासीर गर्म होती है। दालचीनी की खेती केरल, तमिलनाडु तथा कर्नाटक में भारी मात्रा में की जाती है। दालचीनी को विभिन भाषाओं में विभिन्न नामों से जाना जाता है। दालचीनी को हिन्दी भाषा में दालचीनी, बंगाली में दारूचिनी, गुजारती में तज, बालची व बेल के नाम से जाना जाता है। दालचीनी को फारसी में दारचीनी, अरबी में दारसीनी, किर्फा के नाम से जाना जाता है। मराछी भाषा में पूहरचक, तेलगू में लवण वक्ल, कन्नड़ में लवंग पट्टे तथा पंजाबी में दालचीनी के नाम से जाना जाता है। दालचीनी को संस्कृत भाषा में गुडत्वक, चोंच, दारूसिता, तथा उत्कट के नाम से जाना जाता है। दालचीनी को मलयालम में एरिकोलम, अरैबिक में दारसीनी, नेपाली में दालचीनी के नाम से जाना जाता है।

दालचीनी विटामिन्स तथा मिनरल्स की खान है। 100 ग्राम दालचीनी में विटामिन-A 15 µg, विटामिन  B6 0.158 मिग्रा0,  विटामिन C 0.8 मिग्रा0, विटामिन E 2.3 मिग्रा0, कैल्शियम 1002 मिग्रा0, आयरन 8.3 मिग्रा0, तांबा 0.339 मिग्रा0, सोडियम 10 मिग्रा0, मैग्नीशियम 60 मिग्रा0, फास्फोरस 64 मिग्रा0, पोटैशियम 431 मिग्रा0, जिंक 1.8 मिग्रा0, नियासिन 1.33 मिग्रा0, मैंगनीज 17.4 मिग्रा0, थायमिन 0.02 मिग्रा0, सिलेनियम 3.1 µg, पैंटाथोनिक अम्ल 0.35 मिग्रा0, राइबोफ्लेविन 0.041 मिग्रा0, शुगर 2.17 ग्राम, लाइकोपिन 15 µg, फोलेट 6 µg, बीटा कैरोटिन 112 µg, अल्फा कैरोटिन  5 µg, कार्बोहाइड्रेट 80.5 ग्राम, लाइकोपिन 15 µg, फैट 1.24 मिग्रा0, ल्यूटिन 222 मिग्रा0 तथा प्रोटीन 3.99 ग्राम आदि तत्व पाये जाते हैं।

दालचीनी दीपन, पाचन, यकृत उत्तेजक, वातानुलोमन, पित्तशामक, वात व कफ नाशक तथा ओजवर्ध्दक है, एंटीआक्सीडेन्ट है,  जिसका प्रयोग पुराने अतिसार संग्रहणी, अफारा, मरोड़ी आतिसार आदि तमाम रोगों के देशी इलाज में भी किया जाता है। दालचीनी की जड़, छाल तथा पत्तियों का उपयोग किया जाता है। दालचीनी की पत्तियों तथा छाल से तेल भी निकाला जाता है। दालचीनी का उपयोग मसाले के रूप में, फेस पैक के रूप में, हेयर पैक के रूप में, काढ़े या चाय आदि के रूप में किया जाता है। दालचीनी मुख्यतया चार प्रकार की होती हैः इण्डोनेशियन दालचीनी, साइगान दालचीनी, सीलोन दालचीनी तथा कैसिया दालचीनी। सीलोन दालचीनी सबसे अधिक पौष्टिक होती है।

दालचीनी के स्वास्थ्य लाभ

  1. इम्यूनिटी बढ़ जाती हैः दालचीनी का नियमित रूप से सेवन करने से शरीर की इम्यूनिटी बढ़ जाती है तथा सर्दी, जुकाम, बुखार, गले में खरास आदि छोटी-छोटी मौसमी बीमारियां नही होती है।
  2. सिर दर्द ठीक हो जाता हैः दालचीनी के तेल को ललाट पर 5 मिनट तक दिन में दो बार मालिश करने से सिर दर्द ठीक हो जाता है।
  3. हिचकी ठीक हो जाती हैः 15 से 20 मिली0 दालचीनी काढ़ा दिन में तीन बार नियमित रूप से पीने से हिचकी आना बन्द हो जाती है।
  4. आंखो की ज्योति बढ़ जाती हैः दालचीनी का तेल आंखों के ऊपर दिन में दो बार लगाने से आंखों की ज्योति बढ़ जाती है।
  5. दांत दर्द ठीक हो जाता हैः दालचीनी के तेल को दांत में लगाने के दांत दर्द ठीक हो जाता है।
  6. कोलेस्ट्राल घट जाता हैः 250 मिली0 पानी में दो चम्मच दालचीनी का चूर्ण तथा दो चम्मच शहद अच्छी तरह से मिलाकर सुबह, दोपहर, शाम नियमित रूप से पीने से रक्त में कोलेस्ट्राल की मात्रा घट जाती है।
  7. दस्त ठीक हो जाता हैः 5 ग्राम दालचीनी का चूर्ण तथा 10 ग्राम कत्था 250 ग्राम स्वच्छ पानी में उबाल कर ठण्डा करके गुनगुना कर दिन में दो बार पीने से दस्त रोग ठीक हो जाता है।
  8. पेट के विकार नष्ट हो जाते हैः 5 से 7 ग्राम दालचीनी चूर्ण को एक चम्मच शुध्द शहद में मिलाकर दिन में तीन बार नियमित रूप से तीन से चार सप्ताह तक खाने से संग्रहणी रोग, अफारा, अतिसार, जीर्ण अतिसार, कब्ज, गैस ठीक हो जाते हैं।
  9. रक्तस्राव ठीक हो जाता हैः 20 से 25 मिली0 दालचीनी काढ़ा दिन में तीन बार नियमित रूप से पीने से गर्भाशय से होने वाला रक्त स्राव ठीक हो जाता है।
  10. चर्मरोग ठीक हो जाते हैः दालचीनी चूर्ण को शुध्द शहद में अच्छी तरह  से मिलाकर पेस्ट तैयार करके नियमित रूप से दिन में दो से तीन बार लगाने पर खाज खुजली, फोड़ा-फुंसी ठीक हो जाता है।
  11. वजन कम हो जाता हैः 20 से 25 मिली0 दालचीनी काढ़ा दिन में तीन बार नियमित रूप से पीने से शरीर का मेटाबालिज्म बढ़ जाता है, अनावश्यक फैट कम हो जाता है तथा वजन कम हो जाता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Would you like to receive notifications on latest updates? No Yes

AdBlock Detected

Please Consider Supporting Us By Disabling Your AD Blocker