Others

रात की नींद में मदद करने के लिए 10 महत्वपूर्ण कदम

रात की नींद में मदद करने के लिए 10 महत्वपूर्ण कदम

बीती रात में मुझे  बहुत अच्छी नींद आई, जब मैं  सो कर उठा तो मुझे लगा कि एक महान रात की नींद का आपके चयापचय पर कितना शक्तिशाली प्रभाव पड़ता है। एक अच्छी नींद के बारे में मेरा विचार है जिसमें आप अच्छी तरह से सोते हैं और पूरी तरह से ताज़ा और ऊर्जा से भरे हुए हैं। एक महान रात की नींद भी कहा जाता है जिसके दौरान आप शायद ही कभी यदि आपकी परेशानियों के बारे में सोचते हैं और आप आमतौर पर अपने सिर को तकिया से टकराने के 10 मिनट के भीतर सो जाते हैं  ऐसा आपके दिमाग में सकारात्मक विचारों के कारण होता है।

यह निर्धारित करने में एक महत्वपूर्ण कारक कि क्या आपके पास एक महान रात की नींद है यदि आप ‘सकारात्मक’ या ‘मजेदार’ सपने देखते हैं। क्योंकि अगर आपकी रात ‘बुरे’ या ‘तनावपूर्ण’ सपनों से भरी है, तो आप निश्चित रूप से पूरी रात टॉस कर रहे हैं और “आराम” नींद नहीं ले रहे होते हैं।

प्रत्येक रात को गुणवत्ता वाली नींद अर्थात् अच्छी नींद लेना इतना महत्वपूर्ण क्यों है? गुणवत्ता वाली नींद न लेने से आपका शरीर और आपका दिमाग टूट जाता है और आप दिन भर तनाव से घिरे रहते हैं।

केवल एक बार जब आपका शरीर और आपका दिमाग खुद को दुरुस्त करता है और जब आप सो रहे होते हैं तब कायाकल्प करते हैं। लेकिन यहां यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि “आरामदायक” नींद महत्वपूर्ण है। पूरी रात जागना और मुड़ना या हर कुछ घंटों में जागना आरामदायक नींद नहीं माना जाता है। एक अनुसंधान के अनुसार खर्राटे आपकी नींद और आपके स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव डालते हैं। खर्राटे लेने वाले लोग अपनी नींद को बाधित करते हैं, औसतन प्रत्येक रात में 300 बार- अब यह रात की नींद नहीं है। अब एक पल के लिए इसके बारे में इस तरह से सोचें कि यदि आप हाल ही में तनाव में हैं, या यदि आप गद्दा चूस रहे हैं, या यदि आप सीधे सादे पिछले कुछ हफ्तों या महीनों से अच्छी तरह से सो नहीं पाए हैं, तो तब आपने अपने मस्तिष्क या अपने शरीर को वह समय नहीं दिया है जो कि उसे स्वयं को सुधारने के लिए परम आवश्यक होते हैं।

आपके शरीर और आपके दिमाग को मरम्मत और कायाकल्प करने के लिए एक नियमित नींद पैटर्न की आवश्यकता होती है। यदि आप पर्याप्त एवं गहरी नींद नही लेते हैं तो आप वास्तव में खुद को फिर से ऊर्जावान करने के बजाय खुद को खराब कर रहे हैं।

पर्याप्त नींद कितनी होनी चाहिए?

सामान्यतया, सभी को 8 घंटे की आरामदायक नींद लेने का प्रयास करना चाहिए। अब यदि आप बहुत स्वस्थ आहार खाते हैं और ठीक से व्यायाम करते हैं, और अपने आप को दिन के दौरान कुछ मानसिक विराम देते हैं और आप एक बच्चे की तरह सोते हैं तो आप हर दिन पूरी तरह से तरोताजा रहते हैं।

दूसरी ओर, यदि आप प्रत्येक दिन (मानसिक या शारीरिक) असाधारण मात्रा में तनाव का अनुभव करते हैं, तो आपको 8 घंटे से अधिक गहरी नींद की आवश्यकता होगी। उदाहरण के लिए एक मैराथन धावक प्रत्येक दिन अपने शरीर को बहुत अधिक तनाव में डाल देता है जिसके कारण उस व्यक्ति को  8 घंटे से अधिक गहरी नींद की आवश्यकता होती है क्योंकि उनके शरीर को सामान्य से अधिक मरम्मत समय की आवश्यकता होती है। वहीं बड़े पैमाने पर मानसिक तनाव से गुजरने वाले व्यक्ति के लिए भी  8 घण्टे की गहरी नींद लेना आवश्यक है।

प्रत्येक रात को गहरी यानी अच्छी नींद में सोने के लिए 10 महत्वपूर्ण कदम निम्नवत हैं:-

1. अगले दिन आपको क्या करना है, इसकी एक सूची बनाएं, यह सब नीचे लिखें और उस पेपर और पेन को अपने बेडसाइड के पास रखें, जब आपको कुछ और करने की जरूरत हो, तो उसके बारे में सोचें। जब आप चीजें लिखते हैं तो आप अपने मस्तिष्क को यह संकेत देते हैं कि उसे उन कार्यों के बारे में सोचने की आवश्यकता नहीं है।

2. रात को रिटायर होने से पहले टेलीविजन न देखें और न ही रेडियो (विशेषकर समाचार) सुनें – और निश्चित रूप से टीवी या रेडियो पर सोएं नहीं।

3. बिस्तर से पहले कम से कम 30 मिनट के लिए कुछ प्रेरणादायक या आत्म-विकास सामग्री पढ़ें। आपका लक्ष्य सोते समय गिरने से पहले अपने मन को प्रेरणादायक विचारों से भरना है ताकि अंतिम विचार जो आपको बहने से पहले हो, वे विचारों को उत्थान कर रहे हैं – जैसा कि उन तनावपूर्ण विचारों के विपरीत है जिनके बारे में सोचते हुए अधिकांश लोग सो जाते हैं।

4. सुनिश्चित करें कि जिस कमरे में आप सो रहे हैं वह कमरे में जितना संभव हो उतना अंधेरा हो – शरीर अंधेरा होने पर सोने के लिए बना है – गहरे रंग की नींद के लिए कमरे में अधिक संभावना है।

5. कमरे को जितना संभव हो उतना शांत करें – सभी बिजली के उपकरणों को बंद कर दें और घर के अन्य लोगों से भी उतना ही शांत रहने को कहें जितना वे हो सकते हैं।

6. बिस्तर पर जाने से पहले कम से कम 3 घंटे तक भोजन न करें। जब पेट में अनिर्दिष्ट भोजन होता है, तो आपका शरीर आपके शरीर और दिमाग की मरम्मत पर ध्यान केंद्रित करने के बजाय उस भोजन को पचाने पर ध्यान केंद्रित करने के लिए मजबूर होता है – जो कि नींद के बारे में है। शरीर को भोजन को पचाने के लिए सबसे अच्छा डिजाइन किया गया था – लेटते समय नहीं।

7. लगभग 10:00 बजे बिस्तर पर जाने की कोशिश करें और लगभग 6:00 बजे जागें। आयुर्वेदिक चिकित्सा में यह माना जाता है कि ऐसे चक्र हैं जो कुछ गतिविधियों के लिए सबसे अनुकूल हैं। रात 10:00 बजे बिस्तर पर जाना और सुबह 6:00 बजे उठना शरीर को सबसे गहरी, फिर से जीवंत करने की अनुमति देता है।

8. कम से कम 8 घण्टे की गहरी नींद अवश्य ली जाय।

9. रात में हल्का व सुपाच्य भोजन लिया जाय ताकि रात में बदहज्मी न हो अनय्था रात में सोते समय स्वप्न आ जाते हैं जो नींद मे बाधक बनते हैं।

10. रात में सोते समय अपने हाथ पैर धुल लें, सकारात्मक विचार रखें। इससे रात में स्वप्न नही आते तथा गहरी नींद आती हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

AdBlock Detected

Please Consider Supporting Us By Disabling Your AD Blocker